Wednesday, January 05, 2005

निवेदन...

कहते हैं आदमी का काम कभी पूरा नही होता. पर एक काम सिरे लगा. हिन्दी युनिकोड फोरम पे कैसे इस्तेमाल हो सकता है इस का जायजा लिया गया आगे जो हो सो हो - गेन्द अब पराये पाले मे है, जिसको जमे उपयोग करो!
हिंदी ब्लॅग वालो से निवेदन है - हिन्दी मे जवाब देने के इस टूल को ब्लॅग मे भी घुसेडने की प्रक्रिया पे विचार हो सके तो वाह - अपन इस गेम मे नये हैं मदद करो यार लोग - ये कट-पेस्ट कि झन्झट खतम हो!
परेशानियां तकनीकी नही हैं उत्साह की हैं. सब कुछ तुरत-फुरत चहिये ज़माने को और आलोकजी जैसे कर्णधार को तो आलोचनाऒ / प्रशंसाऒ को एक सा झेलने की आदत हो गई होगी! वाह रे ज़माने एक चर्चिले ने इन को भी नही बख्शा! नया क्या है दस्तूर!

5 comments:

अनूप शुक्ला said...

स्वामीजी,तकनीकी जानकारी हमें नही है.पर हम आपका औजार चला के देखते हैं.फिर बताते हैं.

Debashish said...

I am not too sure what forum you are referring to.

Recently Pankaj had talked about at Chitthakar group that a Hindi editor like yours can be used, this is possible at tools hosted by us (like at Akshargram) but I wonder I could we do that say in Blogger.com, you have no choice but to copy-paste.

Among the online tools I personally liked Chahhri (http://www.chhahari.com/unicode/) (and I suggested Pankaj to use a variant is possible at Akshargram) and even Mathew Blackwells tool is good (http://www.geocities.com/matthewblackwell/hindiEditor.html)as it also gives the Hex values. One problem with all such Javascript based tools while being used in cafe is the browser version, don't be surprised that I still get to see IE 5.0 at many Cafe's where these don't work (including gmail).

Do talk about it Chitthakar or Akshragram and feel free to ask for help. I guess it's just the matter of taking the lead, I took it with Chittha Vishwa and now we are working on the Blogzine, things are moving buddy don't get annoyed with the slow pace, Hindi has to catch up a lot on net.

अनूप शुक्ला said...

स्वामीजी,आपके हथियार का उपयोग करके ही मैं यह टिप्पणी लिख रहा हूं.बधाई इस टूल को बनाने के लिये.हालांकि इस में भी कट-पेस्ट करना पड़ता हए पर सबसे अच्छी बात इसमे यह है कि इसकी सहायता लेने के लिये एक बार भी इन्टरनेट में 'लाग' नहीं करना पड़ता.सारा कुछ लिख के पूरा करके चिपका दो.कुछ शब्द अभी खोजने पड़ते हैं पर काम लायक बहुत अच्छा है.बधाई.अनुरोध है कि पूरी वर्णमाला हिन्दी की आप बता दें कि कौन अक्षर कैसे लिखना चाहिये.

मिर्ची सेठ said...

स्वामी जी,

आपका जुगाड़ बहुत पंसद आया। इसे जल्दी ही अपने चिट्ठों में शामिल किया जाएगा। कार्य प्रगति पर है।

पंकज

Jitendra Chaudhary said...

तुम्हारे टूल से आउटपुट
"आज तुम्हरा तूल्वा चेक्क किय.. बहुत हि सहि है भौ....ळगे रहो
अभि देख्ता हून, कैसे ए तूल्व, हुमरे ब्लोग पर फित होता है."

दो तीन चीजे अगर जोड़ सकते हो तो करो...
१.इसको ब्राउजर के Add-on की तरह बना सको तो सही रहेगा.ताकि ब्राउजर मे एक बटन बन जाये और लोग उसको क्लिक करके लिखना चालू कर सकें.
२.अगर AutoComplete Functionality enable कर सकते हो तो, सोने पर सुहागा.
३.मेरे को इसका प्लेन वर्जन भेजो... बिना फोरम वाला...मै कोशिश करता हूँ.
४.ओन स्क्रीन की बोर्ड आ सकता है क्या?